बिल्ली मौसी की कहानी | Hindi Story for Kids

Billi Mausi Ki Kahani
Billi Mausi Ki Kahani

एक दिन बारिस के मौसम में बिल्ली मौसी मोर को नाचते हुए देखती है और सोचती है और सोचती है कि मोर नाचते हुए कितना अच्छा लग रहा है। काश मैं भी बारिश में भीग पाती और बारिस का आनंद ले पाती। बिल्ली जिस पेड़ के निचे खड़ी थी उस पेड़ पर एक कौवा बैठा था। आप पढ़ रहे है Billi Mausi Ki Kahani


कौवा – क्या हुआ, क्या सोच रही हो बिल्ली मौसी ?

बिल्ली मौसी – कुछ नहीं, बारिस का मजा लेना चाहती हूँ। लेकिन खाली पेट तो किसी चीज का आनंद नहीं आता। 

कौवा – फिर उदास क्यों होती हो बिल्ली मौसी , आओ मेरे पास आओ इस पेड़ पर बड़े स्वादिस्ट बेर लगे है। आओ ममें तुम्हे तोड़कर खिलाता हूँ 

आप पढ़ रहे है Billi Mausi Ki Kahani


बिल्ली मौसी झट से पेड़ पर चढ़ गयी। कौवे ने उसके लिए बेर तोड़े और दोनों ने एक साथ बेर खाये। 


कौवा – अब कैसा लग रहा है बिल्ली मौसी 

बिल्ली मौसी – अब बहुत अच्छा लग रहा है। पेट भरने के बाद तो हर चीज का आनदं आता ही है। देखो मोर भी नाचते नाचते थक गया और हम खाते खाते थक गए 


और दोनों हंसने लगते है। फिर बिल्ली पेड़ से निचे उतर जाती है और बारिस में नहीं है। हमें हर चीज में मजा आता है जब हम एक साथ अपनों के साथ रहते है। 

आप पढ़ रहे है Billi Mausi Ki Kahani


Story By : JOJO Kids – Nursery Rhymes for Kids


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *