प्याज वाली चुड़ैल | Chudail Ki Kahani

Pyaaz Wali Chudail Ki Kahani
Pyaaz Wali Chudail Ki Kahani

ये बात साल 2005 की है। दिल्ली और दिल्ली के आसपास के इलाके में एक अफवाह फैलने लगी थी जिसे सुनकर लोग घबरा उठे थे। अक्सर राजस्थान के बालाजी मंदिर में चुड़ैलों को बोत्तलो में बंद करके रखा जाता है। लेकिन उस समय वहाँ से तीन बोतल गायब हो गयी थी। कहा जाने लगा की वो तीन चुड़ैल बोतलों से निकलकर बहार आ गयी थी और दिल्ली आ पहुंची। [ आप पढ़ रहे है Pyaaz Wali Chudail Ki Kahani ]

 

अफवाह के अनुसार वो चुड़ैले बहुत सालो से भूखी थी और लोगो की आत्मा छीन छीन कर ही वो अपना पेट भर सकती थी। वो अपना भेस बदलकर दिल्ली, गाज़ियाबाद और आसपास  के इलाको के घरो में जा जाकर उनका दरवाजा खटखटाती और उनसे प्याज और रोटी मांगती थी। वो भी दरवाजा खोलता था उसकी अगले तीन दिन में मौत हो जाती थी। 

 

ये किस्सा इतनी तेजी से फैला कि लोग शाम ढलते ही अपने अपने घर लौट जाते थे और घरो के दरवाजे बंद कर लेते थे। इतना ही नहीं पंडितो के कहने पर लोगो ने पाने घरो के दरवाजो पर हल्दी और मेहंदी रंगे हाथ की छापे लगाना शुरू कर दिया। कहते थे की इस प्रथा को करने के बाद वो चुड़ैले तुम्हारे घरो के सामने नहीं आएँगी। 

 

ऐसी घटनाएं 80 के दशक में उत्तराखंड में भी हुई थी और उन लोगो ने भी यही नुस्खा आजमाया था जिसके बाद वो चुड़ैल वहाँ से हमेशा हमेशा के लिए चली गयी। लेकिन इस बार ये नुस्खा काम नहीं आया। 

 

दिल्ली में रह रही आहूजा परिवार की उस ज़िन्दगी बदल गयी। Mr. और Mrs. आहूजा एक फंक्शन के लिए बहार गए हुए थे और उनका 13 साल का बेटा  विपिन घर पर अकेला था। प्याज वाली चुड़ैल के डर से उन्होंने भी मेहंदी के हाथ वाले निशान घर के बहार वाले दरवाजे पर छाप रखे थे। विपिन टीवी पर कुछ देख रहा था की अचानक बिजली चली गयी। उस समय बिजली का जाना दिल्ली में आम बात थी। [ आप पढ़ रहे है Pyaaz Wali Chudail Ki Kahani ]

 

लेकिन जब विपिन ने खिड़की से बहार देखा तो बगल वाले घरो की लाइट जल रही थी। उसने बहार देखा ही था कि उसे अपने गेट के खुलने की आवाज आई। उसको लगा की शायद उसके मम्मी पापा वापस आ गए है। लेकिन जब उसने गेट की तरफ देखा तो वह पर कोई नहीं था और गेट खुला पड़ा था जोकि धीरे धीरे अपने आप बंद हो गया। ये देखकर विपिन को घबराहट होने लगी। 

 

उसने अपने कमरे का दरवाजा ज़ोर से बंद कर कर लिया और लैंडलाइन से मम्मी पापा को फ़ोन कर दिया। उसने उन्हें बताया की उसे दर लग रहा है। उसके इतना बोलते ही फ़ोन कट गया। कुछ ही देर में उसे अपने कमरे दरवाजे पर खट खट की आवाज सुनाई दी। उसने दरवाजा नहीं खोला। फिर उसे एक औरत के रोने की आवाज सुनी वो रट हुए बोल रही थी “मैंने सुबह से कुछ नहीं खाया है, कुछ खाने के लिए दे दो”।

 

विपिन ने जाली से देखा तो उसे एक बूढी औरत दिखी जो वास्तव में भूखी लग रही थी। उसको उस पर दया आ गयी। वो भूल गया की रोटी और प्याज मांगने वाली वो चुड़ैल भेस बदलकर आती थी। विपिन में रसोई में जाकर देखा तो उसे सिर्फ 1 रोटी और आलू मिला। उसने वो रोटी और आलू लाकर बूढी अम्मा को दे दिया। लेकिन उस बुढ़िया ने आलू निचे फेंक दिए और बोली “मुझसे आलू नहीं खाये जाते, मुझे प्याज दे दो”। [ आप पढ़ रहे है Pyaaz Wali Chudail Ki Kahani ]

 

उसके प्याज मांगते ही विपिन समझ गया कि ये वही प्याज मांगने वाली चुड़ैल है और भेस बदलकर आयी है। विपिन जैसे ही प्याज़ लेने रसोई की तरफ जाने लगा उस बूढी औरत ने उसका हाथ पकड़ लिया ” मैं भी चलती हूँ तुम्हारे साथ, खुद ही ले लेती हूँ प्याज”। इतने में ही देखते देखते उस बूढी औरत का रूप बदल गया और उसने एक भयानक चुड़ैल का रूप ले लिया। अब वो ज़ोर ज़ोर से हंसने लगी। विपिन घबराकर बेहोश हो गया। 

 

अगली सुबह पड़ोस में रह रहे एक आदमी ने देखा कि विपिन के घर के सामने लगे हल्दी और मेहंदी के निशान अब खून के निशान में बदल गए थे। उस आदमी ने विपिन के घर का गेट खोला तो देखा कि विपन बरामदे में बेहोश पड़ा था। उनके पूरे घर सामान इधर उधर पड़ा था और सारा कीमती सामान घर से गायब था और विपिन के मम्मी पापा भी अभी घर नहीं लौटे थे। 

 

उस पडोसी ने तुरंत पुलिस को बुलाया और विपिन को अपने घर ले गया। जब विपिन को होश आया तो उसने अपने साथ हुआ सारा किस्सा बताया। पुलिस ने छानबीन की तो पता चला की पिछली रात Mr. और Mrs. आहूजा की एक भयानक कार एक्सीडेंट में मौत हो गयी थी। ये सुनकर विपिन पूरी तरह से टूट गया। [ आप पढ़ रहे है Pyaaz Wali Chudail Ki Kahani ]

 

उस रात के बाद से पुलिस ने उस इलाके में निगरानी रखनी शुरू कर दी। और फिर कभी प्याज वाली चुड़ैल का हादसा किसी के साथ नहीं हुआ। पुलिस और कुछ लोगो का कहना था कि कुछ चोर चुड़ैल का डर फैलाकर चोरी करते है और विपिन में माँ बाप का कार एक्सीडेंट सिर्फ एक इत्तेफाक था। विपिन आज भी यही मानता है कि इस सब के पीछे उसी प्याज वाली चुड़ैल का ही हाथ था। 

 

आपको क्या लगता है कि इस सब के पीछे चुड़ैल का हाथ था या कोई इंसान सिर्फ कुछ पैसो के लालच में आकर चोरी करने के लिए ऐसा करता था। कमेंट करके अपनी राय जरूर दे। 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *