एक शापित घर का भूत | Bhoot Ki Kahani

Shapit Ghar ke Bhoot Ki Kahani
Shapit Ghar ke Bhoot Ki Kahani

हेमा अपने बेटे मैथरू, उसकी पार्टनर जेनिफर और अपनी बेटी सुजैन के साथ एक नए घर में शिफ्ट हुई थी। जिसने ये घर बेचा था वो इस घर को छोड़कर भागने की जल्दी में था इसलिए उसे वो घर काफी सस्ते में मिल गया। हेमा जैसे ही उस घर में घुसी, वो उस घर की छत को एकटक देखती रही। उसके चेहरे को देखकर उसके परिवार वाले घबरा गए। आप पढ़ रहे है Shapit Ghar Ke Bhoot Ki Kahani 


लेकिन थोड़ी देर बाद वो बिलकुल सामान्य हो गयी। ये नया घर थड़ा अजीब था और जेनिफर को यहाँ पर बिलकुल अच्छा नहीं लग रहा था। एक दिन जब वो शीशे के सामने बैठी थी तो उसने देखा की उसके उसके पीछे एक लड़की खड़ी थी जिसके बाल बुरी तरह बिखरे थे और वो उसे घूरकर देख रही थी। जेनिफर ने जैसे ही उसे पीछे मुड़कर देखा तो उसे वो लड़की नहीं दिखी। 


जेनिफर को अब इस तरह के नज़ारे अक्सर देखने को मिलने लगे। कभी उसके सामने एक बच्चा आ जाता जो अपना मुँह बड़ा करके जोर से चिल्लाने लगता। उसकी आवाज से जेनिफर के कान फटने लगते। जेनिफर ने पता करना शुरू किया की उस घर में पहले कौन रहता था। घर के बेसमेंट में उसे कुछ तस्वीरें मिली जिसमे एक परिवार की फोटो थी। उस फोटो में वो बच्चा भी था जो उसे अक्सर दिखाई देता था। आप पढ़ रहे है Shapit Ghar Ke Bhoot Ki Kahani


जेनिफर ने वो फोटो ली और आसपास के लोगो से पता करने की कोशिश की कि ये लोग कौन है और इस घर में पहले कौन रहता था। पड़ोसियों से पूछने पर उसे पता चला कि वो घर शापित है। और इस वजह से उसका मालिक उसे इतने सस्ते में बेचकर भाग गया। बहुत समय पहले उस घर में एक आदमी, उसकी पत्नी और उनका एक छोटा बच्चा रहता था। 


पत्नी का अफेयर किसी दुसरे आदमी के साथ चगल रहा था और ये बात उसके पति को पता चल गयी। इस वजह से उसके पति ने उसे बेरहमी से मार दिया। उस छोटे बच्चे ने अपनी माँ का खून होते देख लिया और चिल्ला चिल्लाकर भागने लगा। उसका मुँह बंद करने के लिए उस आदमी ने अपने बच्चे को भी मार दिया। आप पढ़ रहे है Shapit Ghar Ke Bhoot Ki Kahani


लेकिन उस औरत और उस बच्चे की आत्मा उसी घर में रहने लगे। वो आदमी कुछ दिन तक तो उस घर में रहा लेकिन फिर उसकी पत्नी की आत्मा ने उसे भी मार डाला। इस तरह से पूरे परिवार की आत्मा उसी घर में रहने लगी और उस घर में आकर रहने वाले हर इंसान को मार देती थी। 


ये बात पता चलने पर जेनिफर भागकर अपने घर में गयी लेकिन वह पहुँचने पर उसने पाया कि उसके परिवार के सभी लोगो की लाश पहले ही फर्स पर पड़ी थी और उसकी तरफ घूर रही थी। डर के मारे जेनिफर छत पर भागी लेकिन वह पर और कुछ लोगो की लाशें पहले से ही थी जो उसकी तरफ बढ़ने लगी। जेनिफर जैसे ही वहाँ से भागने लगी उसका पैर फिसल गया और वो चाट से निचे गिर गयी। 


जैस ही वो निचे गिरी वहाँ से गजरती हुई कार उस से टकरा गयी और उसकी मौके पर ही मौत हो गयी। आप पढ़ रहे है Shapit Ghar Ke Bhoot Ki Kahani


आपको हमारी ये कहानी कहानी कैसी लगी कमेंट कर के जरूर बताएं।  


Story By : Khooni Monday

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *